कोहरे में गाड़ी चलाते समय इन 5 टिप्स का रखें ध्यान, हमेशा रहेंगे सुरक्षित

57
Fog driving tips details in hindi

Fog Driving Tips Details in Hindi: उत्तर भारत में कोहरा पड़ना शुरू हो गया है। ऐसे में हमें सड़क पर वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की जरूरत है। चाहे दोपहिया हो या चारपहिया, अगर हम वाहन चलाते समय छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें तो किसी भी अप्रिय घटना या सड़क दुर्घटना से बचा जा सकता है।

हेडलाइट और बैटरी

घर से निकलते समय हमेशा अपनी हेडलाइट्स और टेललाइट्स की जांच करें। यदि बल्ब खराब है या कम रोशनी दे रहा है तो उसे तुरंत बदलवा लें। सर्दी शुरू होने से पहले अपनी बैटरी की जांच करें। अगर सुबह कार को स्टार्ट करने में दिक्कत हो रही है या बहुत ज्यादा झटके लग रहे हैं तो आपकी बैटरी पुरानी होने के कारण डाउन हो सकती है या खराब हो सकती है। विशेषज्ञों के मुताबिक, बैटरी की उम्र तीन से पांच साल है। आप अपने वाहन पर रिफ्लेक्टर या रेडियम स्टीकर लगा सकते हैं। ताकि सड़क पर आपके पीछे चल रहा ड्राइवर अलर्ट हो जाए.

अपनी लेन में गाड़ी चलाएं, तेज गति से गाड़ी चलाने से बचें

सड़क पर हमेशा अपनी लेन में गाड़ी चलाएं। इसके अलावा खासकर हाईवे पर बार-बार गाड़ी की स्पीड नहीं बढ़ानी चाहिए और न ही ओवरटेक करना चाहिए। घने कोहरे में मोड़ लेते समय हमेशा सिग्नल का प्रयोग करें। कार चलाते समय खतरनाक लाइटों का उपयोग किया जा सकता है। कार में फॉग लाइट लगाना भी एक विकल्प हो सकता है। आप दिन में सड़क पर चलते समय हेडलाइट्स को लो बीम पर ऑन कर सकते हैं। कार के विंडशील्ड के रबर की जांच करें। अगर इसमें दरारें आ जाएं तो इसे बदलवा लें।

टायर का दबाव और हवा

कार के टायरों की जांच करें। जैसे-जैसे टायर पुराने होते जाते हैं, घिसते जाते हैं और उनमें दरारें पड़ने लगती हैं, जिससे सड़क पर गाड़ी चलाते समय दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इसके अलावा टायरों में हवा का दबाव सही रखें। बहुत अधिक या बहुत कम हवा चलने पर दुर्घटना का खतरा रहता है। कार में डिफॉगर और ब्लोअर का प्रयोग करें।