कार में लगातार AC का इस्तेमाल हो सकती है बड़ी समस्या, जानें क्या हो सकते हैं साइड इफेक्ट?

58
Continuous use of AC in car

Continuous use of AC in Car | क्या आपको भी काम के दौरान लगातार AC चलाने की आदत है? अगर आपकी भी ऐसी आदत है तो अपनी आदत सुधारने की जरूरत है, नहीं तो आपकी कार की सेहत पर काफी असर पड़ेगा। अक्सर देखा जाता है कि कई लोग गाड़ी चलाते समय हर समय एसी का इस्तेमाल करते हैं।

लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि अगर वे लगातार ऐसा करते हैं तो इससे उनकी कार पर बहुत बुरा असर पड़ता है, जिससे उन्हें भारी आर्थिक नुकसान हो सकता है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि कार में लगातार एसी चलाने से क्या हो सकता है। कार में लगातार AC चलाने से कार पर कई तरह के प्रभाव पड़ सकते हैं।

कार की माइलेज पर असर 

यह सामान्य ज्ञान है और कार चलाने वाला प्रत्येक व्यक्ति जानता है कि ईंधन की खपत बढ़ जाती है। एयर कंडीशनिंग सिस्टम को चलाने के लिए इंजन को अधिक मेहनत करनी पड़ती है, जिससे ईंधन की खपत बढ़ जाती है, जिसका असर आपके माइलेज पर पड़ता है। साथ ही अगर आप पर्यावरण प्रेमी हैं तो इसका सीधा असर पर्यावरण पर पड़ता है।

एसी कंप्रेसर का इस्तेमाल कार में ताजगी बनाए रखने के लिए किया जाता है, लेकिन इसका असर पर्यावरण प्रदूषण पर भी पड़ता है। एसी कंप्रेसर चलाने से इंजन पर अधिक भार पड़ता है और अधिक कार्बन डाइऑक्साइड (सीओ2) और अन्य वायु प्रदूषक निकलते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि कार्बन डाइऑक्साइड पर्यावरण के लिए कितना खतरनाक है।

कम हो जाती है बैटरी लाइफ

साथ ही एसी चलाने के लिए कार को ज्यादा देर तक चालू रखने से बैटरी ज्यादा खर्च होती है, जिससे बैटरी की उम्र कम हो सकती है यानी जो बैटरी कई सालों तक चलने वाली होती है, वह कुछ सालों में ही खत्म हो जाती है। एसी चालू रखने से इंजन की ऊर्जा का पूरा उपयोग होता है, जिससे इंजन गर्म हो जाता है और इंजन से तेजी से गर्मी निकलने लगती है।

इसके अतिरिक्त, एसी चलाने से आंतरिक संघनन और अतिरिक्त नमी होती है, जिससे विंडशील्ड पर धुआं जमा हो जाता है और दृश्य को काफी प्रभावित कर सकता है। इसलिए, अगर आप अपनी कार में एसी को लंबी दूरी तक लगातार चलाते रहते हैं, तो ऊर्जा की खपत, प्रदूषण, बैटरी लाइफ और इंजन सर्विस को ध्यान में रखना जरूरी है।